Crime

By Sarita Chaudhary
Share on FacebookTweetShare on Whatsapp

2020-07-25

क्या उत्तर प्रदेश में है जंगल राज? पत्रकार की गोली मारकर हत्या

क्या उत्तर प्रदेश में बदमाशों का सफाया करने वाली सरकार बदमाशो पर लगाम कसने में विफल हो गई है, ये हम इसलिए बोल रहे क्योंकि आखिरकार गाजियाबाद के पत्रकार विक्रम जोशी की मौत हो गई। सोमवार रात बदमाशों ने विक्रम जोशी को गोली मार दी थी।हालांकि पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए इस मामले में अब तक 9 आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है। वहीं लापरवाही के आरोप में प्रताप विहार चौकी के इंचार्ज राघवेंद्र सिंह को सस्पेंड किया जा चुका है।

विक्रम जोशी ने अपनी भांजी से छेड़छाड़ की शिकायत पुलिस से की थी। परिजनों का आरोप है कि बदमाशों ने इसी बात का बदला लेने के लिए जोशी पर जानलेवा हमला कर दिया। इस मामले में पुलिस ने समय पर कोई कार्रवाई नहीं की। परिजनों ने साफ तौर पर कहा हैं कि जब तक मुख्य आरोपी नहीं पकड़ा जाता, तब तक वे विक्रम जोशी के शव नहीं लेंगे। आपको बता दे विक्रम जोशी सोमवार रात अपनी बेटियों के साथ बाइक से जा रहे थे। उसी दौरान रास्ते में बदमाशों ने उन्हें रोककर मारपीट की और उनके सिर में गोली मार दी।

उत्तर प्रदेश में जंगलराज:कांग्रेस

इस घटना के बाद हालांकि राजनीति भी शरू हो गई है, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने मंगलवार को उत्तर प्रदेश सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने ट्वीट किया- गाजियाबाद एनसीआर में है। यहां कानून व्यवस्था का ये आलम है तो आप पूरे यूपी के हाल का अंदाजा लगा लीजिए। एक पत्रकार को इसलिए गोली मार दी गई, क्योंकि उन्होंने भांजी से छेड़छाड़ की शिकायत पुलिस में की थी। इस जंगलराज में कोई भी आमजन खुद को कैसे सुरक्षित महसूस करेगा?

आपको बता दे राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने साफ तौर पर कहा है कि इस तरह के अपराध करने वाले को बख्सा नही जाएगा, और कठोर सजा मिलेगी

© All Rights Reserved 2020 | Mumbai Breaking News Live