India

Desk Report
Share on FacebookTweetShare on Whatsapp

2020-08-16

पंजाब सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करने पर अकेली नेता समेत 1000 से अधिक पार्टी कार्यकर्ता पर महामारी एक्ट में FIR दर्ज

तरनतारन में पंजाब पुलिस ने शिरोमणि अकाली दल के नेता प्रो. विरसा सिंह वल्टोहा समेत करीब 1000 लोगों के खिलाफ महामारी एक्ट में मामला दर्ज किया है। आपको बता दे दो दिन पहले शेरोमणि अकाली दल के नेताओं ने पंजाब में जहरीली शराब से हुई मौताें को लेकर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया था।

पंजाब में जहरीली शराब पीने से 110 लोगों की मौत हो गई थी, इस प्रदर्शन के दौरान मास्क न लगाने और सोशल डिस्टेंसिंग का नियम तोड़ने के आरोप में अकाली नेता प्रो. विरसा सिंह वल्टोहा, उनके बेटे गौरव दीप, पीए संदीप सिंह, पार्टी के उप प्रधान भाई मनजीत सिंह समेत 84 को नामजद किया गया है। बाकी पार्टी वर्कर्स की भीड़ को भी आरोपी बनाया गया है।

शुक्रवार को अकाली दल की तरफ से खेमकरण के विधायक सुखपाल सिंह भुल्लर का पुतला भी फूंककर विरोध प्रदर्शन किया गया था। इस विरोध प्रदर्शन के दौरान करीब1000 अकाली कार्यकर्ताओ ने न तो सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखा और न ही मास्क पहना हुआ था। जब पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को रोका तो दोनों पक्षों में झड़प हो गई थी।

इन्हीं आरोपों को लेकर पंजाब पुलिस ने सख्त कार्रवाई करते हुए सोशल डिस्टेंसिंग तोड़ने पर आईपीसी की धारा 188, 269 और 51 बीडीएम एक्ट के तहत केस दर्ज किया है। इस बारे में प्रो. वल्टोहा का कहना है कि खेमकरण के कांग्रेस विधायक सुखपाल सिंह भुल्लर घटिया राजनीति पर उतर आए हैं। ऐसे मुकदमे दर्ज करके कांग्रेस सरकार जनता की आवाज को दबा नहीं पाएगी।

© All Rights Reserved 2020 | Mumbai Breaking News Live