India

Desk Report
Share on FacebookTweetShare on Whatsapp

2020-10-28

रामनगरी में होने वाले चौथे दिव्य दीपोत्सव में दीपों की माला सजाने की योजना बननी शुरू हो गई

रामनगरी में होने वाले चौथे दिव्य दीपोत्सव में दीपों की माला सजाने की योजना बननी शुरू हो गई है। राम की पैड़ी पर 30 ब्लॉक्स में  डॉ. राममनोहर लोहिया अवध विवि के 7 हजार वालंटियर्स 5.50 लाख दीप जलाएंगे। इसकी तैयारी में विवि प्रशासन जुट गया है। ब्लॉक्स का बंटवारा करके वालंटियर्स को नियुक्त किये जाने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। आठ नवंबर को वालंटियर्स की नियुक्ति कर रिहर्सल की तैयारी शरू कर दी जाएगी। रामनगरी में होने वाले चौथे दिव्य दीपोत्सव को शासन ने कोरोना महामारी काल में  सोशल डिस्टेंसिंग के साथ मनाने की मंजूरी जिला प्रशासन को दी है। इसकी कमिश्नर की अध्यक्षता में जिले स्तर पर पहली बैठक हो चुकी है।

बता दे, दिव्य दीपोत्सव में 5.5 लाख दीपों को जलाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इस वर्ष भी दीपों को जलाने का कार्य अवध विवि के छात्र करेंगे। बैठक के बाद विवि प्रशासन 5.5 लाख दीपों को जलाने के लिए 7 हजार वालंटियर्स को तैयार कर रहा है। राम की पैड़ी की लंबाई लगभग 500 मीटर बढ़ जाने व सोशल डिस्टेंसिंग के साथ विवि प्रशासन ने पूरे राम की पैड़ी को 30 ब्लॉक्स में बांटने का निर्णय लिया है।

इस बार तीन दीपों की लारियों के मध्य दो से ढाई मीटर का फासला रखा जाएगा। हर ब्लॉक्स पर वालंटियर्स दीप जलाएंग। इसमें विवि के कैंपस छात्र, एनसीसी व एनएसएस के छात्र, विवि से संबंधित महाविद्यालयों के छात्र व इच्छुक स्वयंसेवी संगठनों के स्वयंसेवक वालंटियर्स के रूप में दिखाई देंगे। विवि प्रशासन 8 नवंबर तक अपनी तैयारियां पूरी कर लेगा। इसके बाद घाटों पर रिहर्सल का काम शरू होगा।

दीपोत्सव में चार चांद लगाने वाला अवध विवि का फाइन आर्ट विभाग इस बार विशेष प्रस्तुति देने की तैयारी में है। फाइन आर्ट विभाग इस बार मुख्यमंत्री के मंच के सामने घाट पर दैवीय शक्ति स्वरूप रामायण आधारित कलाकृति बनाएगा। इसमें विशेष ट्रेनिंग पाए फाइन आर्ट डिपार्टमेंट के 100 बच्चे व पांच शिक्षिकाएं दीपों के जरिये लंका से पुष्पक विमान से लौटे भगवान राम व उनके परिवार का चित्रण करेंगे। इस कलाकृति को थ्रीडी इंपैक्ट से जोड़ा जाएगा। पहले विभाग के छात्रों को विवि में कंप्यूटर से ट्रेनिंग दी जाएगी। साथ ही विवि में इसका डेमो होगा। इसके बाद 8 नवंबर से फाइन आर्ट डिपार्टमेंट के छात्र घाट पर रिहर्सल करेंगें।

विवि का फाइन आर्ट विभाग पिछली बार की तरह इस बार भी 501 दीपों का विशेष दीपदान इस दीपदान में अवध की लोक कला संस्कृति झलकेगी। ये दीपदान मुख्यमंत्री के सामने वाले वीआईपी मंच पर लगेगा। इसके साथ ही मुख्यमंत्री के मंच के सामने फूलों की थ्रीडी इम्पैक्ट वाली विशेष रंगोली भी बनाई जाएगी। इसकी जिम्मेदारी भी फाइन आर्ट विभाग पर रहेगी

दीपोत्सव के लिए नगर निगम ने दीप और तेल उपलब्ध कराने का प्रस्ताव शासन को दिया है। हालांकि इस पर अभी फैसला नहीं हो पाया है। पूर्ववत वर्षों में इस जिम्मेदारी को अवध विवि पूर्ण करता आया है। इस बार के दीपोत्सव में माटी कला बोर्ड से 1.5 लाख विशेष डिजाइनों के दीये भी आएंगे। ये दीप अपने आप में नायाब होंगे। उम्मीद ये है कि इन दीपों को मुख्यमंत्री मंच के सामने लगाया जाएगा। 

दिव्य दीपोत्सव की तैयारियां अवध विवि ने शुरू कर दी हैं। 30 ब्लॉक्स में 7 हजार वालंटियर्स 5.5 लाख दीप जलाने का कार्य करेंगे। इसके साथ ही विवि का फाइन आर्ट विभाग 11 हजार दीपों से थ्रीडी इम्पैक्ट युक्त दैवीय शक्ति स्वरूप रामायण आधारित कलाकृति, अवध लोक संस्कृति दीपदान व थ्रीडी इंपैक्ट वाली रंगोली बनाएगा

© All Rights Reserved 2020 | Mumbai Breaking News Live