Mumbai

Desk Report
Share on FacebookTweetShare on Whatsapp

2021-05-24

चक्रवाती तूफान ताऊ ते के खतरे के बाद यास का दहशत

चक्रवाती तूफान ताऊ ते से अभी देश उबरा भी नही है अब यास तूफान का खतरा मंडरा रहा है। मौसम विभाग (IMD) के मुताबिक रविवार को बंगाल की खाड़ी में बना निम्न दबाव का क्षेत्र सोमवार को चक्रवाती तूफान में बदलने के बाद मंगलवार तक यास तूफान बेहद ताकतवर हो सकता है। हालांकि इससे निपटने के लिए आर्मी, नेवी और एयरफोर्स को अलर्ट कर दिया गया है। तीनों सेनाओं ने नुकसान की आशंका को देखते हुए कई टीमें तैनात की हैं।

मौसम विभाग के मुताबिक यास उत्तरी ओडिशा के पारादीप और पश्चिम बंगाल के सागर आइलैंड के बीच से गुजरेगा। यह 26 मई को ओडिशा और पश्चिम बंगाल के तटों से टकरा सकता है। तूफान के अलर्ट को देखते हुए रेलवे ने 24 से 29 मई तक 25 ट्रेनें रद्द कर दी हैं।

यास के खतरे को देखते हुए पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना और पूर्वी मिदनापुर में निचले इलाकों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने का काम शुरू कर दिया गया है। केंद्र सरकार ने नेशनल डिजास्टर रिस्पॉन्स फोर्स (NDRF) की 85 टीमें 5 राज्यों में तैनात की हैं। तूफान से सबसे ज्यादा नुकसान पश्चिम बंगाल और ओडिशा में हो सकता है।

IMD के मुताबिक यहां 185 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं। तूफान के कारण 25 मई को बंगाल के मेदिनीपुर, 24 परगना और हुगली में हल्की बारिश हो सकती है। कुछ इलाकों में भारी बारिश होने का अनुमान है। इसके बाद 26 मई को नादिया, बर्धमान, बांकुरा, पुरुलिया और बीरभूम में भारी बारिश हो सकती है।

यास तूफान से निपटने की क्या तैयारी?

* पश्चिम बंगाल में NDRF की 32, ओडिशा में 28, अंडमान में 4, आंध्र प्रदेश में 3 और तमिलनाडु में 2 टीमें तैनात की गई हैं।

* कोस्टगार्ड के जहाज 3-4 दिनों से मछुआरों और कॉमर्शियल जहाजों से समंदर में न जाने की अपील कर रहे हैं।

* विशाखापट्टनम में स्थित नौसेना के पूर्वी कमान मुख्यालय ने 4 युद्धपोतों को ह्यूमन असिस्टेंस एंड डिजास्टर रिलीफ (HDR) के लिए स्टैंड-बाय पर रखा। इन जहाजों में मेडिकल टीम, दवाइयां और राहत सामग्री है।

* नौसेना ने बंगाल और ओडिशा में 8 डाइविंग टीमें तैनात की हैं।

* विशाखापट्टनम में INS डेका और चेन्नई में INS राजाली एयरबेस पर विमान और हेलिकॉप्टर्स को अलर्ट पर रखा गया है। इससे एरियल-सर्वे और सामान एयर-ड्रॉप करने में आसानी होगी।

* वायुसेना के एक C-17 ग्लोबमास्टर, एक IL-76, 3 C-130 हरक्युलिस, 4 AN-32 और 2 डोरनियर ट्रांसपोर्ट विमान तैनात हैं।

*एयरफोर्स ने 11 MI-17V5 हेलिकॉप्टर, 7 MI17, 2 चेतक, 3 चीता और 2 ALH ध्रुव हेलिकॉप्टर्स स्टैंड-बाय मोड पर रखे हैं।

* प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को नेशनल डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी (NDMA) और NDRF समेत 14 विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक की।

26-27 को बिहार में तेज हवा के साथ बारिश का अलर्ट हुआ जारी

बिहार के सभी 38 जिलों पश्चिम-पूर्वी चंपारण, सिवान, सारण, गोपालगंज, सीतामढ़ी, मधुबनी, मुजफ्फरपुर, दरभंगा, वैशाली, शिवहर, समस्तीपुर, सुपौल, अररिया, किशनगंज, मधेपुरा, सहरसा, पूर्णिया, बक्सर, भोजपुर, रोहतास, भभुआ, औरंगाबाद, जहानाबाद, अरवल, पटना, गया, नालंदा, शेखपुरा, नवादा, बेगूसराय, लखीसराय, कटिहार, भागलपुर, बांका, जमुई, मुंगेर और खगड़िया जिले में 26-27 मई को तेज हवा के साथ बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। इन जिलों के कई जगहों पर तेज़ बारिश का अलर्ट जारी किया गया है।

झारखंड में बारिश के साथ बिजली गिरने की आशंका जताई गई है

झारखंड में यास को लेकर 25 से 28 मई तक अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विभाग ने राज्य के 30 से लेकर 60 फीसदी इलाकों में बिजली गिरने की चेतावनी जारी की है। इस दौरान 50 से 60 किमी की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं। यास चक्रवात का असर झारखंड में 25 मई से दिख सकता है। 28 मई तक रांची सहित पूरे झारखंड में तेज बारिश की संभावना है। 26 और 27 मई को तापमान गिरकर 25 डिग्री तक पहुंच सकता है। संताल परगना सहित झारखंड के बंगाल से सटे हिस्सों में भारी बारिश हो सकती है।

मध्यप्रदेश के 22 जिलों में भी हो सकती है बारिश

मध्य प्रदेश के मौसम में लगातार बदलाव हो रहा है। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे में 22 जिलों में बारिश का अनुमान जताया है। यहां अभी तक ताऊ ते तूफान का असर बताया जा रहा है। इससे कई जिलों में नमी बनी हुई है। मौसम विभाग ने जबलपुर संभाग के 8 जिलों सहित, सागर, दमोह, उमरिया, भोपाल, विदिशा, रायसेन, इंदौर, धार, उज्जैन, देवास, नीमच, मंदसौर, गुना, होशंगाबाद में बारिश होने का अनुमान जताया है।

© All Rights Reserved 2021 | Mumbai Breaking News Live