Politics

By Ajaz Khan
Share on FacebookTweetShare on Whatsapp

2020-08-18

बीजेपी ने कराया था शाहीन बाग का धरना, आप नेता सौरभ भारद्वाज का आरोप, पलटवार में बीजेपी ने क्या कहा?

नागरिकता संसोधन कानून यानी CAA और नैशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन बिल यानी NRC कानून के खिलाफ दिल्ली के शाहीन बाग में प्रदर्शन करने को लेकर सुर्खियों में आये कई कार्यकर्ताओं के बीजेपी में शामिल होने के एक दिन बाद आम आदमी पार्टी (आप) ने बीजेपी पर कई गंभीर आरोप लगाए है। आप नेता और विधायक सौरभ भारद्वाज ने कहा कि दिल्ली चुनाव की रणनीति के तहत भाजपा ने शाहीन बाग का 101 दिन तक धरना कराया था। सौरभ भारद्वाज ने कहा कि भाजपा ने पूरा चुनाव शाहीन-बाग पर ही लड़ा और पहले सर्वे में जो बीजेपी को 18 प्रतिशत वोट मिलना था, वो बढ़ कर 38 प्रतिशत हो गया।

बीजेपी के नेता जिस शाहीन बाग के बारे में कहते थे कि यहां लोगों ने देश विरोधी, देश के टुकड़े-टुकड़े करने व पाकिस्तान समर्थित आदि के नारे लगाए, उन्हें खुद भाजपा प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने पार्टी में शामिल कराया। सौरभ भारद्वाज ने कहा कि इस असलियत के सामने आने के बाद झटका उन लोगों को लगेगा जो प्रदर्शन में लोकतंत्र को बचाने के लिए जा रहे थे। सौरभ भारद्वाज ने कहा कि दिल्ली पुलिस एक दिन से ज्यादा किसी धरने को नहीं टिकने देती है, लेकिन शाहीन-बाग का धरना 101 दिनों तक चलने दिया गया। जिससे लाखों लोग हर दिन परेशान होते रहे।

भारद्वाज का आरोप है कि भाजपा ने शाहीन-बाग पर चुनाव लड़ने के लिए पूरी स्क्रिप्ट तैयार की थी कि कब, किसे और क्या बोलना है? गृहमंत्री अमित शाह बताते थे, लेकिन हमें समझ नहीं आता था कि कमल निशान का तार शाहीन-बाग से जुड़ा हुआ था। चुनाव के बाद भी नफरत इतनी बढ़ाई गई कि दिल्ली में दंगे हुए, जिसमें 53 लोगों की मौत हुई और हजारों करोड़ रुपये की संपत्ति बर्बाद हुई।

दिल्ली पुलिस क्या कर रही थी ?

सौरभ भारद्वाज ने कहा कि मीडिया और सोशल मीडिया के माध्यम से यह कहा जाता था कि शाहीन बाग में लोग देश विरोधी नारे लगा रहे हैं। भारत के टुकड़े करने के नारे लगा रहे हैं। पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगा रहे हैं। यदि ऐसे नारे लगाए जा रहे थे, तो दिल्ली पुलिस क्या कर रही थी? उन देश विरोधी नारे लगाने वालों को पकड़ा क्यों नहीं गया? कहा जाता था कि वहां पैसे बांटे जाते हैं। यदि यह बात सही है, तो दिल्ली की पुलिस क्या कर रही थी केंद्र की भाजपा सरकार क्या कर रही थी?

आरोप पर बीजेपी का पलटवार,आप और कांग्रेस का पर्दाफाश हुआ तो बौखला गए

दिल्ली के शाहीन बाग आंदोलन से जुड़े कार्यकर्ताओं के भाजपा में शामिल होने के बाद दिल्ली की सियासत गरमा गई है। बीजेपी की मीडिया पैनलिस्ट निगहत अब्बास ने पलटवार करते हुए कहा कि जब शाहीन बाग के लोगों को नागरिकता संशोधन कानून समझ आ गया है कि यह कानून किसी की नागरिकता छीनने के लिए नहीं, बल्कि नागरिकता देने के लिए है।इसके बाद वहां के मुस्लिम समाज के भाई- बहन भाजपा परिवार में शामिल हो रहे है। इससे आम आदमी पार्टी और कांग्रेस पार्टी बौखला गई है।

उन्होंने कहा कि शाहीन बाग का प्रदर्शन आम आदमी पार्टी और कांग्रेस पार्टी द्वारा रचाया हुआ था और पैसों से प्रायोजित किया गया षड्यंत्र था, जिसने मुस्लिम समाज के लोगों को गुमराह किया। अब उन लोगों को समझ आ गया है कि सीएए के विरोध का कोई आधार नहीं था। निगहत अब्बास ने कहा कि आम आदमी पार्टी और कांग्रेस पार्टी मुस्लिम समाज के लोगों का लगातार शोषण करती आ रही है, लेकिन अब उनका यह मुखौटा उतर चुका है।

© All Rights Reserved 2020 | Mumbai Breaking News Live