Sports

By Latif Shaikh
Share on FacebookTweetShare on Whatsapp

2020-07-29

बीसीसीआई पर लगाया आरोप: युवराज ने कहा- करियर के आखिर में मुझे इज्जत नहीं मिली

भारत के पूर्व ऑलराउंडर युवराज सिंह को लगता है कि करियर के अंत में उन्हें इज्जत नहीं मिली और बीसीसीआई का उनके साथ रवैया गैर पेशेवर रहा। युवराज ने एक स्पोर्ट्स वेबसाइट से बातचीत में कुछ पूर्व खिलाड़ियों का उदाहरण देते हुए कहा कि करियर के अंत में उन्हें वैसा सम्मान नहीं मिला, जिसके वे हकदार थे।युवराज सिंह ने कहा कि मुझे लगता है कि हम लोगों के साथ अनप्रोफेशनल व्यवहार हुआ। इसमें हरभजन सिंह, वीरेंद्र सहवाग और जहीर खान जैसे खिलाड़ी भी शामिल हैं।

भारत के लिए लंबा खेलने वाले क्रिकेटरों को सम्मान मिलना चाहिए: युवराज

युवराज ने आगे कहा कि इन खिलाड़ियों के साथ सही बर्ताव नहीं हुआ। हालांकि, मुझे यह देखकर हैरानी नहीं हुई, क्योंकि यह भारतीय क्रिकेट का हिस्सा है। मैंने इससे पहले भी ऐसा होते देखा है। इस पूर्व ऑलराउंडर ने कहा कि भविष्य में भारत के लिए लंबे वक्त तक खेलने वाले क्रिकेटर, जो मुश्किल हालात से गुजरा हो, उसे आपको सम्मान देना चाहिए।

गंभीर-सहवाग जैसे खिलाड़ियों को सम्मान नहीं मिला

गौतम गंभीर जिन्होंने हमें दो वर्ल्ड कप जिताए। सहवाग, जिन्हें सुनील गावस्कर के बाद टेस्ट में देश का सबसे बड़ा मैच विनर माना जाता है। जहीर ने 350 विकेट लिए। कम से कम ऐसे खिलाड़ियों को तो इज्जत मिलनी चाहिए।

2017 में युवराज सिंह ने आखिरी वनडे खेला था

करीब 19 साल तक भारत के लिए क्रिकेट खेलने के बाद युवराज सिंह ने पिछले साल इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास ले लिया था। लेकिन उन्हें, जहीर खान और वीरेंद्र सहवाग को कोई फेयरवेल मैच नहीं खेलने को मिला। वे 2017 में भारत के वेस्टइंडीज दौरे पर आखिरी बार खेले थे। इसी साल की शुरुआत में उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू वनडे सीरीज में टीम इंडिया में फाइनल कमबैक किया था। उसी सीरीज में उन्होंने वनडे में अपने करियर की सबसे बड़ी 150 रन की पारी खेली थी।

युवराज सिंह ने भारत के लिए 304 वनडे, 40 टेस्ट और 58 टी-20 खेले। उन्होंने वनडे में 8701, टेस्ट में 1900 और टी-20 में 1177 रन बनाए। वनडे में उन्होंने 111 और टेस्ट में 9 विकेट भी लिए।

© All Rights Reserved 2020 | Mumbai Breaking News Live